fire in VIJAYAWADA

VIJAYAWADA: विजयवाड़ा के एक निजी अस्पताल द्वारा कोविद -19 केयर सेंटर के एक होटल में रविवार सुबह करीब 5 बजे आग लगने से कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई।

घटना के समय लगभग 30 कोविद -19 रोगियों का इलाज किया जा रहा था। प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार बिजली के शॉर्ट सर्किट को आग का कारण बताया गया है।

एलुरु रोड पर गोल्डन पैलेस होटल को रमेश अस्पताल ने कोविद -19 रोगियों के इलाज के लिए किराये पर लिया था। अस्पताल द्वारा पिछले दो सप्ताह में स्वर्ण महल में लगभग 30 रोगियों को भर्ती किया गया था।

Coronavirus pandeminc updates in hindi

घटना के समय लगभग 10 पैरा मेडिकल स्टाफ उसकी सहायता कर रहे थे। अधिकारियों के मुताबिक ज्यादातर मौतें धुएं से दम घुटने के कारण हुई हैं। जैसा कि कोविद -19 रोगी पहले से ही सांस की समस्याओं से पीड़ित थे, और मोटे धुएं ने उनकी स्थितियों को और खराब कर दिया।

कई मरीजों को होटल के कमरों की खिड़कियों से मदद के लिए चिल्लाते हुए सुना गया।

विजयवाड़ा शहर के पुलिस आयुक्त बी श्रीनिवासुलु के अनुसार, आग पहले होटल के रिसेप्शन क्षेत्र के पास लगी और फिर देखते – देखते मंजिल पर भी लग गयी | स्थानीय लोगो दयारा खींची गयी तस्वीरों आग का भयानक दृश्य कैद हुआ|

श्रीनिवासुलु ने कहा कि उन्होंने करीब 30 लोगों को बचाया है और 25 मिनट के भीतर आग पर काबू पा लिया गया। उन्होंने कहा कि नियंत्रण कक्ष को सुबह लगभग 5:15 बजे एक एसओएस मिला।

उन्होंने कहा कि Quick action टीमों ने मौके पर पहुंचकर बचाव अभियान शुरू किया। सीढ़ी का उपयोग कर मरीजों को बाहर लाया गया और इमारत में कोई बाहरी आग नहीं थी।

फायर कर्मियों ने पीड़ितों को बचाने के लिए खिड़कियां तोड़ दीं।Covid19 रोगियों को विशेष एम्बुलेंस में अन्य अस्पतालों में ले जाया गया।

मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया और अधिकारियों को पीड़ितों की हर संभव मदद करने का निर्देश दिया। उन्होंने घटना की जांच के आदेश दिए और अधिकारियों को एक रिपोर्ट सौंपने को कहा।