rohtang ropway construction

सरकार ने मनाली के पास कोठी से रोहतांग दर्रे तक सात किलोमीटर लंबे रोपवे की स्थापना के लिए मंजूरी दे दी है।

मनाली रोपवे प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक (एमडी) अमिताभ शर्मा ने रोहतांग रोपवे परियोजना को निष्पादित करते हुए कहा कि निर्माण कार्य 1 अप्रैल से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि परियोजना का बजट लगभग 540 करोड़ रुपये था।

चार साल में पूरा किया जाना है

यह परियोजना चार चरणों में तीन साल में पूरी होगी।
कोठी से गुलाबा तक का रोपवे 1.2-किमी लंबा होगा, गुलाबा से मरही तक का खिंचाव 2.8-किलोमीटर लंबा होगा, जबकि तीसरे चरण में मरही से रोहतांग तक 3.1 किलोमीटर लंबा होगा।
कोठी, गुलाबा, मरही और रोहतांग में चार स्टेशन होंगे।
7.1 किलोमीटर की सवारी कोठी से रोहतांग तक की दूरी तय करने में 35 मिनट (लगभग) का समय लगेगा।
एमडी ने कहा कि यह परियोजना तीन चरणों में चार साल के भीतर पूरी होगी। कोठी से गुलाबा तक का रोपवे 1.2-किमी लंबा होगा, गुलाबा से मरही तक का खिंचाव 2.8-किलोमीटर लंबा होगा, जबकि तीसरे चरण में मरही से रोहतांग तक 3.1 किलोमीटर लंबा होगा। उन्होंने कहा कि कोठी, गुलाबा, मरही और रोहतांग में चार स्टेशन होंगे।

हिमाचल की ताज़ा न्यूज़ जानने के लिए हमारा Whatsapp ग्रुप ज्वाइन करे

उन्होंने कहा कि 7.1 किलोमीटर लंबी सवारी कोठी से रोहतांग तक की दूरी तय करने में 35 मिनट (लगभग) का समय लेगी। उन्होंने कहा कि परियोजना की परिधि में लगभग 1,300 पेड़ गिर रहे थे और सरकार ने उनमें से 550 को कुल्हाड़ी मारने की मंजूरी दे दी है।

रोपवे के पूरा होने के बाद पर्यटक पूरे साल भर में 13,058 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रे, जो कि विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, में जा सकेंगे। रोहतांग दर्रा नवंबर से जून तक सात महीनों तक बर्फ से ढका रहता है।

पर्यटक बर्फ से भरे दर्रे पर विभिन्न साहसिक गतिविधियों का आनंद लेते हैं। स्थानीय निवासी वहां पर्यटन से संबंधित विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करके अपनी आजीविका कमाते हैं। पर्यटकों ने बर्फ की एक झलक पाने के लिए गुलाबा, मरही और रोहतांग दर्रा भी घूमते हैं।

मनाली से रोहतांग तक की 50 किलोमीटर की दूरी तय करने में कार से लगभग दो घंटे लगते हैं। गर्मियों में पीक टूरिस्ट सीजन के दौरान अक्सर ट्रैफिक जाम की वजह से यात्रा करते समय पर्यटकों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

चूंकि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने रोहतांग दर्रे पर जाने वाले वाहनों की संख्या 1,200 प्रति दिन पर्यटन के उद्देश्य से रखी थी, मनाली आने वाले पर्यटकों की एक बड़ी संख्या को रोहतांग दर्रे के आगे उद्यम करने के अवसर से वंचित किया गया था। रोपवे के पूरा होने के बाद मनाली आने वाले पर्यटक साल भर रोहतांग जा सकेंगे।

सरकार पैसों का गलत इस्तेमाल कर रही है : CONG

पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों ने कहा कि रोहतांग रोपवे के निर्माण से पूरे साल पर्यटन व्यवसाय को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि पर्यटक बर्फ का आनंद ले पाएंगे और रोपवे घरेलू और विदेशी पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र बन जाएगा।

One thought on “रोहतांग रोपवे निर्माण कार्य अप्रैल से शुरू होगा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *